Saturday, March 2, 2024
Google search engine
Homeअंतर्राष्ट्रीयपंजाब में पहली बार  त्वचा के कायाकल्प  बदलने के लिए एक नवीन...

पंजाब में पहली बार  त्वचा के कायाकल्प  बदलने के लिए एक नवीन तकनीक का लॉन्च

जालंधर के डॉ. शिवानी स्किन क्लिनिक में इसका अनावरण किया गया

त्वचा के कायाकल्प और उसमें एक नया बदलाव लाने के लिए ‘ऑरा’ नामक नई तकनीक के लॉन्च के साथ चमकदार और आकर्षक त्वचा पाना अब काफी आसान हो गया है। इस मिनिमली इनवेसिव नवीन तकनीक का इस्तेमाल, पंजाब के जालंधर में पहली बार डॉ. शिवानी स्किन क्लिनिक में शुरू हुआ। यह उपकरण शरीर की प्राकृतिक कोलेजन निर्माण प्रक्रिया को उत्तेजित/प्रेरित करने के लिए तीव्र रेडियो फ्रीक्वेंसी ऊर्जा का इस्तेमाल करता है।

डॉ. शिवानी स्किन क्लिनिक, जालंधर की त्वचा विशेषज्ञ और कॉस्मेटोलॉजिस्ट डॉ. शिवानी सैनी बताती हैं, “चमकदार त्वचा के लिए सबसे महत्वपूर्ण वैज्ञानिक कारणों में से एक कोशिकाओं का नवीनीकरण है। यह त्वचा को बेजान और खुरदुरा होने से बचाता है, लेकिन उम्र बढ़ने के साथ नवीनीकरण की गति कम हो जाती है।’ऑरा’का आगमन उन लोगों के लिए एक नई आशा लेकर आया है जो अपनी युवा त्वचा वापस पाने की इच्छा रखते हैं।” उपचार में विशेष रूप से चुनी गई रेडियो-आवृत्ति ऊर्जा का इस्तेमाल करके त्वचा के ऊतकों को गर्म करना शामिल है। यह ऊर्जा कोलेजन के विकास को उत्तेजित/प्रेरित करती है, एक रेशेदार प्रोटीन जो युवापन बनाए रखने में महत्वपूर्ण है।

उम्र बढ़ने के अलावा कुछ अन्य कारक जो कोशिका नवीनीकरण प्रक्रिया की गति को बदलते हैं उनमें आहार, तनाव, नींद की गुणवत्ता या हार्मोनल परिवर्तन शामिल हैं। इसके परिणामस्वरूप मृत त्वचा कोशिकाएं अधिक संख्या में जमा हो सकती हैं, जिससे त्वचा बेजान हो सकती है और एक स्वस्थ त्वचा में जो चमक होती है वो खत्म हो सकती है।

यह कैसे काम करता है

डॉ. शिवानी सैनी ने बताया, “उपचार के दौरान, एक विशेष हैंड पीस त्वचा की सतह पर आरएफ ऊर्जा पहुंचती है। यह ऊर्जा शरीर के अंदर एक नई पुन: उत्पादन प्रक्रिया शुरू करती है और शरीर की प्राकृतिक उपचार प्रक्रिया शुरू हो जाती है। यह नए कोलेजन के विकास को उत्तेजित/प्रेरित करता है। जो त्वचा की बनावट, रंगत और लचीलेपन को बेहतर बनाने में सहायता करते हैं।”

यह नई तकनीक विशेष रूप से उन मरीजों के लिए डिज़ाइन की गई है जो कम सेशन्स में अत्यधिक कुशल परिणाम चाहते हैं जो बिना किसी साइड इफेक्ट्स के सुरक्षित और आरामदायक भी हो। ‘ऑरा’ उनकी इन मांगों/जरूरतों में फिट बैठता है और 2-3 सत्रों में चिकनी, कसी हुई और अधिक युवा दिखने वाली त्वचा देने का दावा करता है।

सर्जिकल फेस-लिफ्ट्स, या पुरानी शैली की लेजर रिसर्फेसिंग के विपरीत, जो त्वचा की ऊपरी परत को हटा देती है, ‘ऑरा’से उपचार कराने वाले व्यक्ति का चेहरा ठीक होने तक घर के अंदर नहीं रहना पड़ता है, बल्कि वे प्रक्रिया/उपचार के तुरंत बाद अपनी नियमित दिनचर्या तुरंत शुरू कर सकते हैं।

श्री कुंतल देबगुप्ता, सीईओ, रिवील लेज़र, इंडिया एंड सार्क ऑपरेशन ने कहा, “रिवील लेज़र नवीनतम तकनीकों पर काम करता है और हम अपनी सभी प्रक्रियाओं को सुरक्षित और प्रभावी बनाना सुनिश्चित करते हैं, ताकि मरीज को कम से कम दर्द और परेशानी हो। हमारा मानना है कि हमारी नवीनतम तकनीकों से पूरे देश में अधिक से अधिक मरीजों को लाभ मिलना चाहिए।”

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments